उफनती नदी: ओवरफ्लो नदी में रस्सी के सहारे पार हुयी शवयात्रा

उफनती नदी – महू तहसील की छपरिया ग्राम पंचायत से एक बुरी तस्वीर सामने आई है. यहां नदी के बहाव के बीच रस्सी के सहारे शवयात्रा एक क्रॉस से दूसरे क्रॉस तक हुई।

ग्राम पंचायत छपरिया के शांतिलाल भूरिया के दादा बिरजा भूरिया (85) का बुधवार को निधन हो गया. अंतिम यात्रा गुरुवार को निकाली गई। अंतिम यात्रा करने के लिए नदी को पार करना पड़ा, लेकिन वहां पुल नहीं होने के कारण गांव के लोगों ने नदी के दोनों किनारों पर रस्सियां ​​पकड़ लीं. इसकी मदद से बड़ी मुश्किल से इस तरफ से अंतिम यात्रा निकाली गई।

कई बार ग्रामीणों ने इस समस्या से सरपंच सचिव व गांव के अन्य अधिकारियों को अवगत कराया, लेकिन अब तक यहां बहने वाली नदी पर पुल नहीं बन पाया है. यहां दो नाले और एक नदी है, जिसे पार करने के लिए इस रास्ते से गुजरना पड़ता है। 2 किमी मार्ग के लिए गांव को प्रधानमंत्री सड़क योजना का लाभ भी नहीं मिला और न ही पंचायत ने सड़क बनाई. 200 मीटर की दूरी पर ही कंक्रीट की सड़क बनाई गई है, वह भी आधी अधूरी।

यह भी जाने – Bajaj Pulsar : Bajaj ने बंद किया Bajaj Pulsar का ये शानदार मॉडल! जानिए रही क्या वजह?


महू जायस के उपाध्यक्ष शेर सिंह परमार ने कहा कि बच्चों को स्कूल, अस्पताल, बाजार-हाट जाने में काफी परेशानी होती है. शिकायत करने के बाद भी आज तक हमारी समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment