पशुपालको को मालामाल कर देगी इस नस्ल की गाय, 50 से 80 लीटर दूध देती है, जाने इसकी पूरी जानकरी

पशुपालको को मालामाल कर देगी इस नस्ल की गाय, 50 से 80 लीटर दूध देती है, जाने इसकी पूरी जानकरी। भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां लोग पारंपरिक रूप से भैंसों और बकरियों के साथ गायों को भी पालते हैं। पिछले कुछ समय में डेयरी फार्मिंग और पशुपालन का व्यवसाय तेजी से बढ़ रहा है। यह बताना जरूरी है कि यह ग्रामीण क्षेत्रों के लाखों लोगों के लिए आय का एक अच्छा स्रोत है। हमारे देश में गीर नाम की एक विशेष गाय की नस्ल पाई जाती है जो एक दिन में लगभग 50 से 80 लीटर दूध देती है। इसकी मदद से अच्छी कमाई की जा सकती है।

गीर गाय के दूध के फायदे

गीर गाय के दूध में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। गाय के इस नस्ल का दूध किसी भी बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को दिया जाए तो उसका स्वास्थ्य बहुत तेजी से सुधर सकता है। गीर गाय को खिलाए जाने वाले आहार की मात्रा और गुणवत्ता दूध की मात्रा और गुणवत्ता को प्रभावित करती है। इसका दूध छोटे बच्चों के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। आप भी इस गाय को पालकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

यह भी पढ़े- KTM को धुल चट्टा देगा TVS Apache का डैशिंग लुक, फर्राटेदार फीचर्स के साथ माइलेज भी बढ़िया

गीर गाय की पहचान

अब बात करते हैं गीर गाय की पहचान की। इनके कान लंबे और बड़े होते हैं। गीर नस्ल की गाय सफेद, गहरे लाल रंग की या गहरे लाल रंग की साथ में भूरे रंग के धब्बों वाली होती है। इस गाय की त्वचा लटकी हुई होती है। गीर नस्ल की मादा गाय का वजन 385 किलोग्राम और ऊंचाई 130 सेमी होती है। गीर नस्ल के नर गाय का वजन लगभग 545 किलोग्राम और ऊंचाई 135 सेमी होती है। गिर गाय में एक दिन में कई लीटर दूध देने की क्षमता होती है। आपको बता दें कि गीर की गाय को तेज धूप में रहना पसंद नहीं होता है।

यह भी पढ़े- OnePlus का अहंकार तोड़ देंगा Motorola का तगड़ा स्मार्टफोन, झक्कास कैमरा क्वालिटी के साथ दमदार बैटरी, देखे कीमत

गीर गाय का आहार

जैसा कि बताया गया है, गीर गाय के दूध की मात्रा और गुणवत्ता उसके आहार पर निर्भर करती है। गीर नस्ल की गाय चारा के रूप में मक्का, बाजरा, गेहूं, जौ, जौ चावल, मूंगफली, सरसों, तिल, अलसी, मक्के से तैयार खूट, गवार पाउडर आदि का सेवन करती है।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment