किसानो को धन्ना सेठ बना देगी काले टमाटर की खेती, कम लागत में होगा मोटा मुनाफा देखे पूरी जानकरी

By talksdewas@gmail.com

Published on:

Follow Us
किसानो को धन्ना सेठ बना देगी काले टमाटर की खेती, कम लागत में होगा मोटा मुनाफा देखे पूरी जानकरी

किसानो के लिए फायदेमंद साबित होगी काले टमाटर की खेती, कम लागत में मुनाफा भी होगा डबल, देखे पूरी जानकारी । जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है और देश में पारंपरिक खेती के साथ-साथ उन्नत खेती का दायरा भी बढ़ता जा रहा है। ऐसे में किसान पारंपरिक खेती की जगह मुनाफे वाली खेती पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं. किसान अब नये फलों की खेती कर रहे हैं. आपको बता दें कि काले टमाटर की खेती एक लाभदायक व्यवसाय विकल्प है जो अपनी अनूठी सुंदरता और विशेष रसदार स्वाद के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा इसके कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं। आइए जानते हैं काले टमाटर की खेती के बारे में।

यह भी पढ़े- किसानो को मालामाल बना देगी सोयाबीन की उन्नत किस्मे , जाने पूरी जानकरी

काले टमाटर का इन राज्यों में होता अधिक उत्पादन

आपको बता दें कि भारत में काले टमाटर की खेती में आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और तमिलनाडु राज्य शामिल हैं। ये राज्य देश के कुल टमाटर उत्पादन का लगभग 91 प्रतिशत उत्पादन करते हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में कई किसान काले टमाटर की खेती भी करने लगे हैं।

काले टमाटर में मौजद होते कई सारे पोषक तत्व

आपको बता दें कि काले टमाटर में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं, यह टमाटर कई बीमारियों से लड़ने में भी कारगर है. यह मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसका सेवन मधुमेह और हृदय रोगी भी कर सकते हैं। वजन कम करने और शुगर लेवल कम करने के लिए काले टमाटर उपयोगी होते हैं। आज के समय में इसकी मांग बढ़ती जा रही है क्योंकि यह कई तरह की बीमारियों को दूर करने में सहायक है।

काले टमाटर की खेती के लिए कैसी होनी चाहिए जलवायु

आपको बता दें कि काले टमाटर की खेती जनवरी के सर्दियों के महीने में की जाती है और मार्च-अप्रैल के महीने में किसानों को काले टमाटर मिलने शुरू हो जाते हैं. इसकी खेती 10 से 30 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान पर की जाती है. पौधे 21 से 24 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान में अच्छे से विकास करते हैं। काले टमाटर की खेती के लिए सूक्ष्म तत्वों एवं सूक्ष्म तत्वों से भरपूर दोमट मिट्टी उपयुक्त होती है। इसे दोमट मिट्टी में भी उगाया जा सकता है.

यह भी पढ़े- Royal Enfield का धंधा बंद कर देगी 80 के दशक की Rajdoot बाइक, बाहुबली इंजन के मार्केट में देगी दस्तक

काले टमाटर की खेती करने का आसान तरीका

काले टमाटर की खेती के लिए सही मिट्टी और प्राकृतिक खाद्य सामग्री का उपयोग करना आवश्यक है। इसके बाद नर्सरी में बीज बोने के 30 दिन बाद पौधों को खेत में लगा दें. बीज को मिट्टी की सतह से 20 से 25 सेंटीमीटर की ऊंचाई पर लगाना होता है. काले टमाटर के पौधों को नियमित रूप से पानी देना चाहिए, साथ ही समय-समय पर कम से कम हर 15 दिन में खाद्य पदार्थों का उपयोग करना चाहिए। पेड़ों पर सही संतुलन बनाए रखने के लिए पौधों की प्रतिदिन छंटाई की जानी चाहिए।

काले टमाटर की खेती से जानिए कितनी होगी कमाई

कमाई के बारे में अगर बात की जाये तो काले टमाटर की खेती में भी लगभग उतना ही पैसा खर्च होता है जितना पैसा लाल टमाटर की खेती में खर्च होता है। काले टमाटर की खेती में केवल बीज का पैसा अधिक खर्च होता है. टमाटर की खेती पर पूरा खर्च निकालने के बाद प्रति हेक्टेयर 4 से 5 लाख रुपये का मुनाफा लिया जा सकता है।

Leave a Comment