Car Update News : सीट बेल्ट अलार्म स्टॉपर्स पर रोक लगा सकती है सरकार,इस व्यक्ति के मौत के बाद हो रहा विचार विमर्श

Car Update News – सायरस मिस्त्री की मौत ने भारतीय सड़कों पर अक्सर अनदेखा कर दिए जाने वाले सुरक्षा पहलुओं पर बहस को एक बार फिर शुरू कर दिया है। इस बार बहस खास तौर पर पीछे बैठने वाले यात्रियों की सुरक्षा को तवज्जो दे रहा है। माना जाता है कि मिस्त्री की मौके पर ही मौत के कारणों में से मर्सिडीज जीएलसी की पिछली सीटों पर सीट बेल्ट के बारे में उनकी अज्ञानता थी। इस दुखद घटना ने केंद्र को सीट बेल्ट और सीट बेल्ट वार्निंग सिस्टम पर अपने नियम पर फिर से सोचने पर मजबूर कर दिया है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) जल्द ही सीट बेल्ट वार्निंग अलार्म को रोकने के लिए सभी मैकेनिज्म पर प्रतिबंध लगा सकता है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रविवार को पालघर में सड़क दुर्घटना में सायरस मिस्त्री की मौत के बाद मंत्रालय चार अहम फैसले लेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रालय सीट बेल्ट बीप अलार्म स्टॉपर्स पर प्रतिबंध लगाएगा, कारों में छह एयरबैग और कार निर्माताओं के लिए मध्य और पीछे की फ्रंट सीट बेल्ट और रियर सीट बेल्ट की अहमियत पर जागरूकता बढ़ाने के लिए अभियान चलाएगा। मंत्रालय नई सड़कों के लिए डिजाइन प्रस्तावों की कड़ाई से समीक्षा कर सकता है और निर्धारित मानकों में नाकाम रहने वालों पर दंड के साथ सख्त कार्रवाई कर सकता है। 

hr

रिपोर्ट के मुताबिक परिवहन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हम उसी के लिए आदेश तैयार कर रहे हैं और प्रक्रिया जारी है। इस तरह के सभी प्रकार के सीट बेल्ट क्लिप पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जल्द ही जारी किया जाएगा।”

भारत में कारें ज्यादातर सामने बैठने वालों के लिए सीट बेल्ट चेतावनी प्रणाली के साथ आती हैं। कुछ कारें आगे बढ़ना भी बंद कर देती हैं अगर उन्हें पता चलता है कि सामने वाले यात्रियों ने सीट बेल्ट नहीं पहनी है। हालांकि, पीछे के यात्रियों के लिए ऐसी कोई चेतावनी प्रणाली नहीं है। सीट बेल्ट अलार्म स्टॉपर्स क्लिप होते हैं जो सीट बेल्ट लगाने के बाद बीप करना बंद कर देते हैं।

car seat belt

केंद्र के इस कदम की पुष्टि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने की। उन्होंने कहा, ‘मैंने ऐसी सीट बेल्ट स्टॉपर क्लिप के निर्माण और बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया है। मैं अपने राजमार्गों पर लगे कैमरों के दायरे का विस्तार करने पर भी काम कर रहा हूं ताकि कार के अंदर सीट बेल्ट नहीं पहनने वालों का पता लगाया जा सके और उन पर ऑटोमैटिक रूप से मुकदमा चलाया जा सके।” 

Cyrus Mistry

टाटा मोटर्स के पूर्व चेयरमैन का दुखद निधन के मद्देनजर उन्होंने कहा, “लोग सोचते हैं कि पीछे बैठने वालों को बेल्ट की जरूरत नहीं है। यह समस्या है। मैं किसी भी दुर्घटना पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। लेकिन आगे और पीछे बैठने वालों दोनों को सीट बेल्ट पहनने की जरूरत है।” उनके मंत्रालय ने इस साल की शुरुआत में एक मसौदा अधिसूचना जारी कर 1 अक्तूबर से  कारों के अंदर 6 एयरबैग अनिवार्य करने पर विचार मांगा था, जिन कारों में आठ लोग सवार हो सकते हैं। हालांकि, कई कार निर्माताओं द्वारा इस कदम की व्यवहार्यता पर सवाल उठाए जाने के बाद अभी तक एक औपचारिक अधिसूचना जारी नहीं की गई है। 

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment