नोक-झोंक : पार्षद और परिवहन अधिकारी के बीच हुई बातो से हाथापाई,आरटीओ पहुंची द्वारा स्कूल बसों पर कार्रवाई करने,वीडियो हुआ वायरल

नोक-झोंक – मंगलवार को परिवहन विभाग की ओर से शहर के कुछ स्कूलों में यात्री वाहनों के साथ बसों का दस्तावेजीकरण किया जा रहा था. नियम के मुताबिक स्कूली बसों में न तो फायर सिस्टम लगाया गया और न ही बसों की फिटनेस। जिसके चलते परिवहन विभाग की ओर से कार्रवाई की जा रही थी। दोपहर में मुखर्जी कार्रवाई करने एमआर रोड स्थित एक निजी स्कूल पहुंचे। यहां उन्होंने बसों की जानकारी ली थी।

इसी दौरान पार्षद व भाजपा नेता राजेश यादव पहुंचे और उन्होंने अपना स्कूल बताते हुए परिवहन अधिकारी को कार्रवाई नहीं करने दी. कार्रवाई को लेकर परिवहन अधिकारी जया वसावा और भाजपा पार्षद राजेश यादव के बीच भी बहस हुई।

परिवहन अधिकारी जया वसावा ने कहा कि हमें निर्देशानुसार सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का पालन कराया जा रहा है. पीयूसी नहीं मिलने पर हमने उनसे चालान कार्रवाई के लिए कहा। जिस पर उन्होंने इधर-उधर विवाद शुरू कर दिया। जहां कहीं कमियां मिलीं, वहां कार्रवाई की जा रही है।चेकिंग के नाम पर हो रही धोखाधड़ीरा जेश यादव ने कहा कि उन्होंने स्कूल बसों की चेकिंग के नाम पर धोखाधड़ी शुरू कर दी है। आरटीओ अधिकारी जांच करना चाहते हैं तो देवास की निजी बसों की जांच करें।

शहर में बड़ी संख्या में निजी बसें तेजी से दौड़ती हैं, न तो उनकी गति नियंत्रित होती है और न ही उनकी फिटनेस की जांच की जाती है। उन्होंने यहां चालान बनाने की बात कही। मैंने उनसे कहा कि पीयूसी सर्टिफिकेट नहीं है, हम बनाएंगे। लेकिन उन्होंने यहां भी उनके लिए फिटनेस रद्द करने पर जोर दिया। मैंने उन्हें याद दिलाया कि अगर इतना करना है तो देवास में जिनी प्राइवेट बसें चल रही हैं। एक साथ चेकिंग करें। उसके पास उसका कोई जवाब नहीं था। बाबुओं के माध्यम से लगातार वसूली का काम कर रही है, भारतीय जनता पार्टी की सरकार को बदनाम करने का काम कर रही है. हम इसकी शिकायत करेंगे। आरटीओ मैडम का व्यवहार स्कूल में था, यह ठीक नहीं है।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment