किसानो को मोटा मुनाफा करायेगी जीरे की खेती, जाने इसकी पूरी जानकरी

किसानो को मोटा मुनाफा करायेगी जीरे की खेती, जाने इसकी पूरी जानकरी। आजकल पारंपरिक खेती के साथ-साथ किसान कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए व्यावसायिक खेती की ओर रुख कर रहे हैं. जीरा की खेती उन्हीं फायदेमंद विकल्पों में से एक है. सब्जी, दाल या किसी भी व्यंजन में इस्तेमाल होने वाला जीरा धनिया के पौधे जैसा दिखता है. इसकी उन्नत खेती करके अच्छी कमाई की जा सकती है. आइए विस्तार से जानें जीरे की खेती के बारे में.

भारत में जीरे का उत्पादन (Cumin Production in India)

भारत में जीरे की 80 प्रतिशत से अधिक खेती गुजरात और राजस्थान राज्यों में होती है. राजस्थान में देश के कुल जीरे का लगभग 28 प्रतिशत उत्पादन होता है. वहीं राज्य के पश्चिमी क्षेत्र में कुल जीरे का 80 प्रतिशत उत्पादन होता है. हालांकि, गुजरात में इसकी औसत पैदावार थोड़ी कम हो रही है.

यह भी पढ़े- Apache की डिमांड कम कर देगा Hero की रापचिक लुक बाइक, बढ़िया माइलेज और दमदार इंजन के साथ देखे कीमत

जीरे में पाए जाने वाले विटामिन (Vitamins in Cumin)

जीरा का सेवन शरीर के लिए फायदेमंद होता है. इसमें कई विटामिन पाए जाते हैं. यह एंटी-ऑक्सीडेंट है और सूजन कम करने तथा मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी लाभकारी है. इसके अलावा, जीरे में फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है. साथ ही, यह आयरन, कॉपर, कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज, जिंक और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से भी भरपूर होता है. विटामिन ई, ए, सी और बी-कॉम्प्लेक्स जैसे विटामिन भी इसमें अच्छी मात्रा में मौजूद होते हैं.

जीरे की खेती करते समय ध्यान रखने योग्य बातें (Important Points for Cumin Cultivation)

जीरे की खेती के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है. इसकी खेती के लिए नवंबर महीना सबसे उपयुक्त होता है. इस हिसाब से, जीरे की बुवाई 1 नवंबर से 25 नवंबर के बीच करनी चाहिए. इसकी बुवाई कultivator से 30 सेंटीमीटर की दूरी पर की जाती है. इसे . के अंतराल पर कतारें बनाकर करना ज्यादा फायदेमंद होता है. क्योंकि इससे जीरे की सिंचाई और निराई में कोई दिक्कत नहीं होती है.

यह भी पढ़े- तिजोरी में पड़ा 1 रुपये का खास नोट बना देंगा लखपति, जाने खासियत और बेचने का तरीका

जीरे की खेती के लिए ठंडी जलवायु बहुत अच्छी होती है. बीज पकने के बाद, जीरे की अच्छी पैदावार के लिए गर्म और शुष्क मौसम की जरूरत होती है.

जीरे की खेती से होगा मुनाफा (Profit from Cumin Cultivation)

अगर जीरे की खेती की लागत की बात करें, तो लगभग 8-9 क्विंटल जीरा प्रति हेक्टेयर उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है. जीरे की खेती की लागत लगभग 30 से 35 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर आती है. अगर जीरे का दाम 100 रुपये प्रति किलो है, तो आपको 40 से 45 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर का मुनाफा हो सकता है. इस प्रकार से खेती करके अच्छी कमाई की जा सकती है.

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment