गणेश चतुर्थी स्पेशल:स्थापना के लिए शुभ योग सुबह 6 से शाम 7 तक स्थापना,जाने राहुकाल समय ?

गणेश चतुर्थी स्पेशल:आज गणेश चतुर्थी पर दिन भर में स्थापना और पूजन के कुल 5 शुभ मुहूर्त होंगे। सबसे अच्छा समय सुबह 11.20 बजे से दोपहर 01.20 बजे तक होगा, क्योंकि यह मध्याह्न काल होगा, जिसमें गणेश का जन्म हुआ था।

तिरुपति के ज्योतिषी डॉ. कृष्ण कुमार भार्गव और पुरी के ज्योतिषी डॉ. गणेश मिश्रा का कहना है कि वैसे तो दोपहर में ही गणेश जी की स्थापना और पूजा करनी चाहिए. समय न मिलने पर किसी भी शुभ लग्न या चौघड़िया मुहूर्त में गणपति की स्थापना की जा सकती है. वैसे भी इस बार गणेश चतुर्थी पर 300 साल बाद ग्रहों की शुभ स्थिति बन रही है और लम्बोदर योग भी बन रहा है.

इतनी सारी चीजों से पूजा नहीं कर पा रहे हैं तो इसके लिए छोटी-छोटी पूजा विधि

  1. पोस्ट पर स्वस्तिक बनाकर उसमें चुटकी भर चावल रखें।
  2. इसके ऊपर मौली लपेटी हुई सुपारी रखें। इन सुपारी गणेश की पूजा करें।
  3. यदि ऐसा संभव न भी हो तो श्रद्धा से मोदक और दूर्वा चढ़ाने से ही भगवान की कृपा भी प्राप्त होती है।

अगर किसी कारण से गणेश स्थापना और पूजा नहीं कर पा रहे हैं, तो हम क्या कर सकते हैं?
पूरे गणेशोत्सव में प्रतिदिन गणपति के केवल तीन मंत्रों का जाप करने से भी पुण्य मिलता है। प्रात:काल स्नान कर गणेशजी के मन्त्रों का जाप कर प्रणाम करके कार्यालय-दुकान या किसी कार्य के लिए निकल जाना चाहिए।
(डॉ कृष्ण कुमार भार्गव, केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय, तिरुपति के अनुसार)

मिट्टी के गणेश को किस रूप में बनाना चाहिए और घर, दुकान, कार्यालय और कारखानों के लिए कौन सा रूप शुभ है। इस पर हमने देश के प्रख्यात विद्वानों से बात की और पता चला कि सिद्धि विनायक रूप की मूर्ति को घर में स्थापित करना चाहिए। विघ्नेश्वर गणेश कार्यालयों और दुकानों के लिए शुभ है और महा गणपति की स्थापना कारखानों के लिए शुभ है।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment