Delay In Work : नवरात्रि में इस बार माता टेकरी पर अधिक भीड़ होने का अनुमान, लेकिन फिर भी निर्माण कार्य है अधूरा,क्या है पूरी खबर?

Delay In Work – शक्ति की भक्ति का बड़ा पर्व नवरात्रि इस बार 26 सितंबर से शुरू हो रहा है. माता टेकरी में मां चामुंडा और तुलजा भवानी के दर्शन के लिए लाखों श्रद्धालु आएंगे। नवरात्रि पर्व में केवल 1 सप्ताह शेष है, फिर भी एबी रेड के पुराने डिवाइडर को तोड़कर नए बनाने का काम जारी है. यह काम एक सप्ताह में पूरा होता नहीं दिख रहा है, क्योंकि अभी डिवाइडर बन रहे हैं, इन पर लोहे की जाली नहीं लगाई गई है। नवरात्रि के दिन रात में अचानक लोगों का तांता लग जाता है और श्रद्धालु बिना किसी जाली के यहां से वहां चले जाते हैं और यातायात प्रभावित होता है।

क्या रहा कोरोना का असर / what was the effect of corona ?

दो साल से महामारी के चलते इतनी भीड़ नहीं थी, जितनी जिला प्रशासन इस बार आने का अंदेशा लगा रही है. रात में भीड़ बढ़ी तो टेकरी पर चढ़ने का एक ही रास्ता, स्लाइडिंग रोड चालू होगा। पुलिस लाइन की तरफ से सीढ़ी गेट और धुनी मार्ग को नीचे लाया जाएगा। इसके अलावा रोपवे का भी इस्तेमाल किया जाएगा। भीड़ होने पर भक्तों को भी टेकरी के रास्ते पर ले जाकर राप्त मार्ग की ओर ले जाया जाएगा। स्लाइडिंग रूट पर जिकजैक लगाए जा रहे हैं, ताकि भीड़ एक साथ चढ़े बिना धीरे-धीरे आगे बढ़ सके।

क्या रहेगी यातायात योजना / What will be the traffic plan ?
किरण शर्मा, ट्रैफिक डीएसपी देवास – नवरात्रि के दौरान विकेंड, सप्तमी और अष्टमी को भीड़ बढ़ जाती है। इसके लिए ट्रैफिक प्लान तैयार किया जा रहा है। माता टेकरी में भक्तों को आसानी से दर्शन होंगे।

यह भी जानिए – Dewas Development:देवास ले रहा है सिंगापुर का रूप,मूर्तियों के साथ बदलेगी संविधान पार्क की रूपरेखा, बनेगा देश का होगा पहला संविधान पार्क

इंदैर के श्रद्धालुओं के लिए रहते हैं सबसे ज्यादा फूल / Most of the flowers remain for the devotees of Indore
हर बार इंदैर से भक्त माता टेकरी के अधिकतम दर्शन के लिए आते हैं। रात के समय भीड़ इतनी बढ़ जाती है कि टेकरी से चार किमी दूर वाहनों को ही रुकना पड़ता है। लोग अपने वाहन पार्क करते हैं और रात में पैदल माता टेकरी तक चढ़ जाते हैं। इंदौर के अलावा उज्जैन, भोपाल, मक्सी रोड और ग्रामीण क्षेत्रों से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं।

पार्किंग की व्यवस्था / parking arrangement

ट्रैफिक टीआई सुप्रिया चौधरी ने बताया कि नवरात्रि के शुरूआती दिनों में माता टेकरी के दर्शन करने वालों की संख्या कम होती है, इसलिए शहर में आने वाली यात्री बसों को रूटीन की तरह आने दिया जाएगा. भीड़ बढ़ते ही बसों को शहर से बाहर निकाला जाएगा। इंदौर बसों का मधुमिलन चौराहा, उज्जैन की ओर इटावा बस स्टैंड, तालाब के सामने भापल की ओर से आने वाली बसों के लिए मीठा और मक्सी-शाजापुर रूट की बसें कृषि उपज मंडी नंबर पर बनाई जाएंगी. शहर का ट्रैफिक भी डायवर्ट किया जाएगा।

यह भी जानिए – खातेगांव की बेटी ने किया राज्य का नाम रोशन : पूजा जाट ने राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल किया अपने नाम

भीड़ अधिक होने की स्थिति में उज्जैन के इंदौर की ओर से आने वाले वाहनों को स्टेशन रोड से गजरा चौराहा होते ही हटा लिया जाएगा. बाहर से आने वाले निजी चालकों से अपील है कि वे नवरात्रि के दौरान अपने वाहन शहर में न लायें और अपने मार्ग के लिए बाईपास छोड़ दें. शहरी लोग ही अपने वाहनों से प्रवेश करें।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे / Tight security arrangements will be in place
और भी भक्तों के आने की उम्मीद है। तीनों प्रवेश द्वारों पर होंगे कड़े सुरक्षा इंतजाम, 24 घंटे लगेंगे अधिकारियों की ड्यूटी डेन आसानी से माताओं का दौरा करेंगे। नवरात्रि के पहले दिन गैरव दिवस भी मनाया जाएगा। -प्रदीप सैनी, एसडीएम व देव स्थान प्रबंध समिति सचिव

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment