ऑपरेशन करने के बाद बाएं अंडकोष को दाएं की जगह हटाया: मरीज की बड़ाई एक और समस्या

ऑपरेशन करने के बाद बाएं अंडकोष को दाएं की जगह हटाया – डॉक्टर ने देवास के अमलतास अस्पताल में मरीज का दायां अंडकोष (अंडकोष) निकालने की बजाय ऑपरेशन कर बाएं अंडकोष को हटा दिया. इसकी शिकायत पीड़िता ने जनसुनवाई में की है। एडीएम कवचे ने प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अतुल पावणिकर से जांच करने को कहा है।

50 वर्षीय भंवर सिंह सोलंकी ने कहा, मुझे 22 तारीख को अमलतास अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 26 अगस्त को मेरा ऑपरेशन हुआ था। ऑपरेशन दाहिनी ओर किया जाना था, लेकिन उसने बाईं ओर ऑपरेशन किया। जब बेहोशी खत्म हुई और दर्द शुरू हुआ तो उसने डॉक्टर से पूछा कि यहां दर्द क्यों हो रहा है तो उसने कहा कि यहां ऑपरेशन किया गया है.

जब डॉक्टर से कहा कि दाहिनी ओर के अंडकोष में समस्या है, तो उन्होंने कहा- हमने सही ऑपरेशन किया है, समस्या बाईं ओर थी। मेरे साथ अन्याय हुआ है। मुझे इंसाफ चाहिए एक समस्या पहले से थी, दूसरी बढ़ गई।

सिविल सर्जन बोले, जांच कमेटी बनाकर कार्रवाई करेंगे
मामले में सिविल सर्जन डॉ. अतुल पावणिकर का कहना है कि जिला अस्पताल में भर्ती कराकर मरीज का इलाज किया जा रहा है. जांच कमेटी बनाकर अमलतास के तमाम दस्तावेजों की जांच कर रिपोर्ट पेश की जाएगी। जांच में दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

ऑपरेशन करने वाले सर्जन ने कहा, आरोप गलत…

भंवर सिंह का ऑपरेशन करने वाले सर्जन डॉ. संदीप ठाकुर से बात की। उन्होंने कहा कि आरोप झूठा है। सोनोग्राफी कराई गई। रोगी के बाएं अंडकोष में रक्त की आपूर्ति काट दी गई थी। यह बात उन्हें ऑपरेशन से पहले भी बताई गई थी।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment