2000 पर्सनल लोन ऐप : ब्लॉक,अधिक ब्याज दर,ऊंची प्रोसेसिंग फीस और भी कई शर्तो से लोन देने वाले ऐप हुए ब्लॉक,Play Store

2000 पर्सनल लोन ऐप ब्लॉक – जिस ऐप से आपने पर्सनल लोन लिया है या लेने की योजना बना रहे हैं, वह प्ले स्टोर पर दिखाई नहीं दे सकता है। Google ने भारत में अपने ऐप मार्केटप्लेस पर लगभग 2,000 पर्सनल लोन ऐप्स को ब्लॉक कर दिया है। Google के अनुसार, ये ऐप्स उसकी नीतियों का उल्लंघन कर रहे थे।

गूगल एशिया-पैसिफिक के वरिष्ठ निदेशक और ट्रस्ट एंड सेफ्टी के प्रमुख सैकत मित्रा ने कहा, “प्ले स्टोर से ऋण ऐप्स को बड़े पैमाने पर हटा दिया गया है। मैं कह सकता हूं कि ऐसे आधे से ज्यादा ऐप अब प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं हैं। मित्रा ने कहा कि Google कुछ हितधारकों के साथ लंबे समय से काम कर रहा था। इनमें सरकारी एजेंसियां, मीडिया और उपयोगकर्ता रेफरल शामिल हैं।

निगरानी के लिए एआई तंत्र
इसके अलावा कंपनी ने प्ले स्टोर पर नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए अपना आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मैकेनिज्म लगाया है। इनमें से जो बातें सामने आईं, उसके आधार पर ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया गया।

मित्रा ने कहा कि इंडोनेशिया जैसे देशों में भारत की तुलना में गलत व्यावसायिक प्रथाओं का पालन करने वाले ऐप्स को ब्लॉक करना आसान है। वहां केवल सरकार द्वारा स्वीकृत ऐप ही लोन दे सकता है।

अत्यधिक ब्याज दर, उच्च प्रसंस्करण शुल्क वसूल रहे थे
Google ने स्पष्ट किया है कि Play Store पर ब्लॉक किए गए ऐप्स को अनिवार्य रूप से अत्यधिक ब्याज दरों, उच्च प्रसंस्करण शुल्क और अपमानजनक शर्तों के साथ ऋण प्रदान करने के लिए नहीं कहा जा सकता है। इन्हें हटाने के लिए कंपनी के अपने मापदंड हैं।

ऑनलाइन उधारी को लेकर कई शिकायतें मिलीं
हालांकि ऑनलाइन लेंडिंग में कई ऐसे मुद्दे सामने आए हैं, जिससे सरकारी एजेंसियों और आरबीआई को नियम कड़े करने पड़े हैं। कंपनी ने यह भी कहा है कि उसने यह पता लगाने की कोशिश नहीं की है कि ब्लॉक किए गए ऐप के डेवलपर्स चीन से संबंधित हैं या नहीं।

talksdewas@gmail.com

Leave a Comment